ऐसा नहीं है कि डीके शिवकुमार सिर्फ विधायकों को मैनेज करने का ही काम करते हैं. कर्नाटक की राजनीति में पिछले 35 साल से ज्यादा समय से सक्रिय डीके शिवकुमार उस समय सुर्खियों में आए जब जनता दल सेक्युलर के नेता और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा को उनके गढ़ कनकपुरा से 1989 के विधानसभा चुनाव में हरा दिया. ये डीके शिवकुमार का पहला विधानसभा चुनाव था, और ये एक स्वप्निली शुरुआत थी.