तीन बार दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं और गांधी परिवार के वफादारों में शुमार शीला दीक्षितअब इस दुनिया में नहीं हैं। शनिवार को एस्कॉर्ट अस्पताल में उनका निधन हो गया। वह 81 साल की थीं। वो पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रही थीं। वह सुबह ही एस्कॉर्ट्स अस्पताल में भर्ती हुई थीं। सुबह उन्हें उल्टी हुई थी जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। एस्कॉर्ट्स अस्पताल के डॉक्टर अशोक सेठ के मुताबिक, दोपहर 3.15 बजे शीला दीक्षित को दिल का दौरा पड़ा। उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया और 3.55 बजे उन्होंने आखिरी सांस शीला दीक्षित का अंतिम संस्कार आज दिल्ली के निगम बोध घाट पर दोपहर ढाई बजे अंतिम संस्कार होगाकिया जाएगा। उनके पार्थिव शरीर को निजामुद्दीन स्थित आवास पर रविवार सुबह 11 बजकर 30 मिनट तक अंतिम दर्शन के लिए रखा गया ।शीला दीक्षित के निधन के बाद राजनीतिक खेमे में शोक की लहर दौड़ पड़ी है,।