149 साल बाद दुनिया एक महासंयोग का गवाह बना। गुरु पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण देखा गया। ये अद्भुत महासंयोग 1870 के बाद पहली बार बना। चंद्रग्रहण भारत समेत दुनिया के ज़्यादातर हिस्सों में रात के क़रीब डेढ़ बजे से दिखा। चंद्र ग्रहण उत्तरी स्केंडिनेविया को छोड़कर पूरे यूरोप और पूर्वोत्तर को छोड़कर समूचे एशिया में भी देखा गया। आंशिक चन्द्रग्रहण 2 घंटे 59 मिनट तक रहा। देर रात चंद्रग्रहण लगने की वजह से कई लोगों ने इसे देखने के लिए लंबा इंतजार किया लेकिन कुछ लोग इसका दीदार नहीं कर पाए तो चलिए हम आपको दिखाते हैं ये अद्भुत नजारा। भारत में देर रात 1 बजकर 32 मिनट से आंशिक चंद्र ग्रहण दिखा। दिल्ली के इंडिया गेट से आंशिक चंद्र ग्रहण के अद्भुत नजारे की ये तस्वीरें हैं। जहां आसमान में छाए बादलों के बीच रात 1:31 बजे आंशिक चंद्र ग्रहण के चांद काफी खूबसूरत दिखाई दिया। मायानगरी मुंबई से चंद्रग्रहण का ये दिखा शानदार नजारा दिखा जिसे देखने के लिए भारी संख्या में लोग जमा हुए। ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर से चंद्रग्रहण की कुछ ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं।अब देखिए यूपी के कानपुर में लोगों को ये चंद्रग्रहण कैसा दिखाई दिया। वहीं चंद्रग्रहण के बाद सभी मंदिरों में पूजा भी शुरु हो गई ।