भोपाल के खटलापुरा घाट पर शुक्रवार को तड़के गणपति विसर्जन के दौरान नाव पलटने से कई लोग डूब गए। अभी तक 11 शव बरामद किए जा चुके हैं। नौ लोगों को बचा लिया गया है। पुलिस और प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। तीन लोग अभी भी लापता बताए जाते हैं। लापता लोगों की तलाश के लिए नदी में गोताखोरों की टीम उतारी गई है। बताया जाता है कि खटलापुरा में यह हादसा नाव पर अधिक लोगों के सवार होने के कारण हुआ।बता दे पिपलानी इलाके में चल रहे समारोह के बाद लोग गणेश प्रतिमा का विसर्जन करने के लिए घटनास्‍थल पर पहुंचे थे। मूर्ति बड़ी होने की वजह से नाव का बैलेंस बिगड़ गया जिससे वह डूब गई। घटना की जानकारी मिलने के बाद एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंच गई है। मध्‍य प्रदेश के मंत्री पीसी शर्मा ने इस हादसे पर दुख जाहिर करते हुए कहा कि यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण घटना है।  राज्‍य सरकार ने मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपए की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है। हादसे को लेकर गंभीर लापरवाही की बात सामने आ रही है। पहले भी यहां लोगों के डूबने की घटनाएं हो चुकी है। गणेश विसर्जन के दौरान यहां पुलिस की ओर से भी सुरक्षा का कोई इंतजाम नहीं था।