Sunni Waqf Board की ओर से Zufar Faruqi ने कहा कि बोर्ड Ayodhya Case पर आए Supreme Court Verdict पर Reconsideration petition दायर नहीं करेगा। बोर्ड की ओर से फैसले का स्वागत किया गया है और उन्होंने कहा कि हम पहले से कह चुके हैं कि सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला आएगा उसे दिल से माना जाएगा। फारुकी ने कहा कि सभी को भाईचारे के साथ इस फैसले का सम्मान करना चाहिए। बता दें कि इस केस में सुन्नी वक्फ बोर्ड एक अहम पक्षकार है। उन्होंने कहा कि अगर कोई Advocate या अन्य व्यक्ति बोर्ड की तरफ से न्यायालय के फैसले को चुनौती देने की बात कह रहा है तो उसे सही न माना जाए। बता दें कि सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील Zafaryab Jilani ने दिल्ली में कहा था कि अयोध्या मामले में न्यायालय के निर्णय को चुनौती देने का विचार किया जाएगा वहीं AIMIM Chief Asaduddin Owaisi ने भी कहा था वो सुप्रीम कोर्ट के फैसले से नाखुश हैं।