गुरूवार को सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या में राम मंदिर के मामले में सुनवाई हुई. इस सुनवाई के दौरान हिन्दू और मुस्लिम दोनों पक्ष मौजूद रहे. इस दौरान इस मुद्दे पर मेडिएशन यानी मध्यस्ता पर बात अटक गयी. जहां सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्ता की रिपोर्ट मांगी वहीं हिन्दू पक्ष ने कहा की मामला मध्यस्ता से नहीं सुलझेगा. हिन्दू महासभा के वकील वरुण सिंह ने बताया की सुप्रीम कोर्ट का ये मानना है की अगर इस मुद्दे पर अब तक कोई फैसला नहीं हुआ तो 25 जुलाई से इस मुद्दे पर रोज सुनवाई होगी.