भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी अब हमारे बीच नहीं रहे, लेकिन 'अटल' व्यक्तित्व वाले वाजपेयी हमेशा देशवासियों की यादों में अमर रहेंगे। लंबे वक्त से मौत से जंग लड़ रहे वाजपेयी जी का गुरुवार शाम 5.05 बजे दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया। उनकी मौत की खबर से न सिर्फ हिंदुस्तान बल्कि पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में भी शोक की लहर है। अटल को अंतिम विदाई देने के लिए जनसैलाब उमड़ पड़ा है, हर कोई इस महान आत्मा के अंतिम दर्शन करना चाहता है। इस बीच अटल निवास से अब उनका पार्थिव शरीर भाजपा मुख्यालय पर लाया गया है, जहां अंतिम दर्शन के लिए रखा गया है।  दोपहर 01 बजे तक वाजपेयी के शव को अंतिम दर्शन के लिए भाजपा मुख्यालय में रखा जाएगा। जहां नेताओं से लेकर आम जनता भी उनको श्रद्धांजलि देने पहुंच रहे हैं। उसके बाद दोपहर एक बजे उनकी अंतिम यात्रा निकाली जाएगी। अंतिम यात्रा के बाद शाम करीब 4 बजे स्मृति स्थल पर उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।