पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली  का अंतिम संस्कार आज शाम को किया किया जाएगा. जेटली का पार्थिव शरीर बीजेपी के मुख्यालय पहुंच गया है, जहां दिन के 2 बजे तक उनके अंतिम दर्शन किए जा सकेंगे. इसके बाद  2:00 बजे से उनकी अंतिम यात्रा निगमबोध घाट के लिए शुरू होगी और शाम को 4:00 बजे उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा.बता दें भारतीय जनता पार्टी (BJP) के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का शनिवार दोपहर 12 बजकर 7 मिनट पर दिल्ली के (एम्स) में निधन हो गया। 66 साल के जेटली पिछले काफी समय से बीमार थे और उन्हें 9 अगस्त को एम्स में भर्ती किया गया था। जेटली के निधन पर बीजेपी सहित तमाम विपक्षी नेताओं ने दुख व्यक्त किया है। अपनी खराब सेहत के चलते उन्होंने सक्रिय राजनीति से खुद को दूर कर लिया था। हालांकि, वह राज्यसभा के सदस्य थे। जेटली का इलाज अमेरिका में हो चुका था। जेटली के निधन का समाचार पाकर देश भर में शोक की लहर दौड़ गई सरकारें चाहे जिसकी भी हो बीते तीन दशक से ज्‍यादा समय तक अपनी विद्वत्‍ता के चलते जेटली हमेशा सत्ता तंत्र के पसंदीदा लोगों में शामिल रहे। वह पीएम नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह का सबसे भरोसेमंद सहयोगियों में भी शुमार थे। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में जब भी कोई चुनौती आई विनम्र और राजनीतिक तौर पर उत्कृष्ट रणनीतिकार जेटली मुख्‍य संकटमोचक के तौर पर सामने आए। यही नहीं वह मोदी-शाह के सबसे बड़े कानूनी सलाहकार भी थे।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को पहली बार बहरीन पहुंचे और वहां के नेशनल स्टेडियम में भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित किया. बहरीन में अपने संबोधन के आखिरी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रुंधे हुए गले से अरुण जेटली को याद किया. उन्होंने कहा, 'मैं गहरा दर्द दबाए हुए बैठा हूं. आज मेरा दोस्त अरुण चला गया.'