New Delhi: जम्मू कश्मीर के हालत को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी और राज्य के राज्यपाल सत्यपाल मलिक के बीच बयानबाजी का दौर शुरू हो गया है. सत्यपाल मलिक के न्यौते पर राहुल गांधी ने पलटवार किया है. राहुल गांधी ने कहा कि मैं आपके विनम्र निमंत्रण पर नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ जम्मू कश्मीर और लद्दाख जाउंगा. इसके लिए हमें विमान की जरूरत नहीं है. बस हमें वहां रह रहे लोगों, वहां के नेताओं और जवानों से मिलने की आजादी दी जाए. राहुल गांधी ने कहा, ''प्रिय राज्यपाल मलिक, आपके विनम्र निमंत्रण पर मैं विपक्षी नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल को लेकर जम्मू कश्मीर व लद्दाख की यात्रा पर जाउंगा. उसके लिए हमें एक विमान की आवश्यकता नहीं है, लेकिन कृपया हमे वहां रह रहे लोगों, नेताओ और हमारे सैनिकों से मिलने और घूमने की आजादी दे दें.''

वहीं अब  राज्यपाल सत्यपाल मलिक की राहुल गांधी के ऊपर की गयी बयानबाजी का लेकर कांग्रेस ने हमला बोलना शुरु कर दिया  है. इस कड़ी में पार्टी प्रवक्ता पवन खेड़ा ने राज्यपाल को क्षुद्र राजनीति में शामिल होने का आरोप लगाया है...पवन खेड़ा ने कहा अगर उन्हें अनुमति नहीं दी गई, तो वह राहुल गांधी की टिप्पणी पर राजनीति क्यों कर रहे हैं।