केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जम्मू और कश्मीर में दो दिवसीय दौरे पर हैं. जम्मू और कश्मीर का ये दौरा अमित शाह का गृह मंत्री बनने के बाद पहला दौरा है. इस दौरान अमित शाह ने आतंकी हमले में मारे गए एसएचओ अरशद खान के परिवार से मुलाकात की. 12 जून को अनंतनाग में आतंकवादियों ने सीआरपीएफ की पेट्रोलिंग पार्टी पर हमला कर दिया था जिस हमले में एसएचओ अरशद खान शहीद हो गए थे. इस आतंकी हमले में आतंकियों की गोली लगने के बाद भी एसएचओ अरशद खान बहादुरी के साथ मोर्चे पर डटे रहे लेकिन 40 साल के अरशद खान आतंकियों पर जवाबी हमला करते हुए घायल हो गए थे उसके बाद जब उन्हें अस्पताल ले जाया गया तब उन्होंने अपना दम तोड़ दिया. जवाबी कार्रवाई में सुरक्षाबलों ने एक आतंकवादी को भी मार गिराया था. इस हमले में सीआरपीएफ के भी 5 जवान शहीद हो गए थे। श्रीनगर के रहने वाले अरशद खान साल 2002 में पुलिस सेवा में आए थे। उन्होंने सब-इंस्पेक्टर के तौर पर करियर की शुरुआत की थी। शहीद होने के समय वो अनंतनाग में SHO पद पर कार्यरत थे। शहीद अरशद खान के परिवार में माता-पिता, पत्नी निलोफर, पांच साल का बेटा अबुहान खान और दो साल का दनिम खान है.