आप यहां है:होमन्यूज़
  • राष्ट्रीय
  • दोनों हाथ कमजोर हुए तो दांतों से थामी कलम

    • Published onThu Dec 07 10:42:57 IST 2017

    • last update onThu Dec 07 10:42:57 IST 2017

    • Share

    कुदरत ने दोनों हाथ कमजोर कर दिए तो दांतों से कलम थामकर इबारत लिखना शुरू कर दिया। मध्यप्रदेश के चपरा गांव के सरकारी स्कूल से शुरू हुआ पढ़ाई का सफर अब इंटर कॉलेज तक जा पहुंचा है। यह कहानी है 17 साल की मंजेश बघेल की। मंजेश जब 3 साल की थी, तब पोलिया से उसके दोनों हाथ कमजोर हो गए, लेकिन उसने हिम्मत नहीं हारी और उसने अपनी पढ़ाई के लिए दांतों से कलम थाम ली, और दांतों के उपयोग से उसने अक्षर ज्ञान सीखा

    संबंधित वीडियो

    ज्यादा पठित