बिहार के दशरथ मांझी की तर्ज पर अकेले अपने दम पर पहाड़ काटकर गांव के लिए रास्ता बनाने की धुन में लगे कंधमाल जिला के जलंधर नायक को खुद जिलाधीश डी वृंदा ने सलाम किया है। जिलाधीश ने उन्हें अपने कार्यालय बुलाकर उनके प्रयास की सराहना की। जलंधर ने अपने प्रयास से 8 फीट चौड़े रास्ते का काम आरंभ कर लोगों का ध्यान आकर्षित किया था। कंधमाल जिला के फुलवाणी ब्लाक अंतर्गत तुड़ीपाडू पंचायत के गुमी गांव निवासी जलंधर गांव के लिए रास्ता बनाने के काम में अकेले जुटे हुए हैं। रास्ते में पांच पहाड़ को पार करना होता है। लेकिन, अपनी धुन के पक्के जलंधर ने अब तक 2 पहाड़ काट डाले हैं और 8 फीट चौड़ा रास्ता बना लिया है। आसपास के गांवों में जलंधर नायक की यह पहल युवाओं को भी प्रेरित कर रही है। तमाम सामाजिक संगठनों ने भी नायक के प्रयास को सराहा लेकिन कोई मदद के लिए आगे नही आया। पर नायक रुके नहीं और अपनी धुन को मुकाम तक पहुंचाने के लिए निरंजर पहाड़ काटते रहे।