अमेरिका द्वारा चीन से मेटल इम्पोर्ट पर 60 अरब डॉलर का टैरिफ लगाए जाने के बाद चीन बौखला गया है। अब उसने अमेरिका को इसका जवाब देने की तैयारी कर ली है और अमेरिका से आयात होने वाली 128 वस्तुओं पर इम्पोर्ट ड्यूटी लगाने का प्रस्ताव दिया रखा है। 2017 में इन 128 वस्तुओँ का कुल आयात मूल्य 300 करोड़ डॉलर रहा। हालांकि चीन के वाणिज्य मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि अमेरिका की ओर से हाल में लगाई गई ड्यूटी से बहुपक्षीय व्यापार को नुकसान हो रहा है और अंतराष्ट्रीय व्यापार को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। चीन आपसी व्यापार संबंधों को सुलझाना चाहता है। 
अमेरिका की ओर से चीन को बाजार आधारित अर्थव्यवस्था की औपचारिक मान्यता नहीं देने के कारण दुनिया की इन दो महाशक्तियों में मतभेद रहा है। चीन 2001 से ही अपनी अर्थव्यवस्था की ग़ैर व्यापारिक छवि से बाहर आने की कोशिश कर रहा है।