उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने गुरुवार को पहली बार आमने-सामने बैठकर बात की। दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय संबंधों को प्रगाढ़ करने की प्रतिबद्धता जताई। इस मुलाकात के पीछे यह मकसद माना जा रहा है कि उत्तर कोरिया के परमाणु मसले का हल निकालने के लिए अमेरिका ही एकमात्र शक्ति नहीं है। किम की करीब दो माह पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ दूसरी बार शिखर वार्ता हुई थी, लेकिन प्रतिबंधों को हटाने की मांग पर यह वार्ता विफल हो गई थी। इसके बाद किम ने सहयोग की उम्मीद में रूस का रुख किया।