उत्तर कोरियाई तानाशाह की सनक किसी से छिपी नहीं है। उनके सनकीपन का अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि एक मीटिंग में झपकी लेने पर किम ने अपने शिक्षा मंत्री किम योंग जिन को गोलियों से भुनवा दिया था। अमेरिका के अत्यधिक दबाव में वे अपनी सुरक्षा को लेकर आत्मघाती कदम भी उठा सकते हैं। उनको डर है कि अमेरिका सद्दाम हुसैन और मुअम्मर अली गद्दाफी की तरह उन्हें भी सत्ता से हटा सकता है। ऐसे में किम जोंग उन परमाणु ताकत हासिल करने में लगा हुआ है, ताकि अमेरिका उसके साथ सद्दाम हुसैन या गद्दाफी जैसा व्यवहार न कर सके और वे परमाणु हथियारों के बल पर अमेरिका को मैनेज कर ले।