London(United Kingdom): बलूचिस्तान में पाकिस्तान की ज्यागदतियों के खिलाफ पूरी दुनिया में आवाजें बुलंद होने लगी हैं। लंदन के 10 डाउन स्ट्रीलट में शुक्रवार को बलूचिस्तान के लोग ब्रिटिश प्रधानमंत्री आवास के सामने जमा हुए और जहां उन्होंने हजारों बलोच राजनीतिक कार्यकर्ताओं की रिहाई के लिए आवाज बुलंद की।

BNM नेता हकीम बलूच ने कहा, "बलूच कार्यकर्ताओं को पाकिस्तान की सेना द्वारा सबसे खराब बर्बरता का सामना करना पड़ रहा है। उनका अपहरण, अत्याचार और हत्या कर दी गई है। हम आज यहां दुनिया को बता रहे हैं कि बलूच लोगों के साथ क्या हो रहा है।"

पाकिस्तानी आर्मी से बचकर विदेशों में शरण लेने वाले हजारों बलूचिस्तानी लोग आए दिन पाकिस्तादन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं और पाकिस्तांनी जेलों में कैद हजारों राजनीति कार्यकर्ताओं की रिहाई की आवाज उठा रहे हैं। बलूचिस्तापन के लोग दशकों से खुद को पाकिस्तान के चंगुल से आजाद किए जाने की मांग कर रहे हैं।

पाकिस्तान ने बलूचिस्तान को आतंकवाद की फैक्ट्रीन बनाकर रखा हुआ है। बीते दिनों अमेरिका पहुंचे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान उस वक्तव फजीहत का सामना करना पड़ा था जब एक कार्यक्रम को संबोधित करते समय बलूचिस्तान समर्थकों ने इसके खिलाफ इमरान खान के सामने ही पाकिस्तान मुर्दाबाद के खिलाफ नारे लगाए थे।