शरीर को फिट रखने और दवाइंयों पर होने वाला खर्च कम करना है, तो आपको रोजाना भुजंगासन करना चाहिए। इस आसन को भुजंगासन नाम इसलिए दिया गया है क्योंकि इसको करते समय आपकी बॉडी शेप भुजंग के जैसी प्रतीत होती है। इस योगासन के अनेकों फायदे हैं, लेकिन इन सभी फायदों को पाने के लिए आपको भुजंगासन को सही ढंग से करना भी बहुत जरूरी है। इस योगासन को करने से रीढ़ की हड्डी को मजबूती और लचीलापन मिलता है। इससे मस्तिष्क और शरीर के बीच बेहतर समन्वय बना रहता है। मस्तिष्क से आने वाली तरंगे शरीर के हर अंग में बिना रुकावट के पहुंचती हैं। इस आसन को करते समय अचानक से पीछे की तरफ बहुत अधिक न झुकें। इससे आपकी छाती या पीठ की मांस‍पेशियों में खिंचाव आ सकता है तथा बांहों और कंधों की पेशियों में भी बल पड़ सकता है जिससे दर्द पैदा होने की संभावना बढ़ती है।