पवनमुक्तासन, दोनों पैरों को घुटने से मोड़ लें। उसके बाद धीरे-धीरे दोनों पैरों को अपने हाथों से लॉक करें। सर और कंधा उठाकर अपने घुटने को छूनें की कोशिश करें। शरीर की इस अवस्था को पवनमुक्तासन कहते हैं। ये आसन अपने नाम के अनुसार पेट से जुड़ी गैस की समस्‍या दूर करता है। कुछ समय तक इसी अवस्था में रहें उसके बाद धीरे-धीरे अपनी पुरानी अवस्था में वापस आ जाएं। जिन लोगों को कमर या घुटने में दर्द की शिकायत हो उन्हें यह आसन नहीं करना चाहिए।