ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) 16 साल की हैं। इतनी छोटी सी उम्र में उन्होने जो भाषण यूनाइटेड नेशंस जनरल असेम्बली (United Nations) में दिया। उसने दुनिया भर के नेताओं की आंखे खोलने का काम किया है। ग्रेटा थनबर्ग का जन्म  3 जनवरी 2003 को स्वीडन की राजनधानी स्टॉकहोम में हुआ था। ग्रेटा की मां का नाम मालेना अर्नमैन(Malena Ernman) है। उनके पिता का नाम स्वांते थनबर्ग (Svante Thunberg) है। स्वांते  लेखक रह चुके हैं। वहीं उन्होंने कुछ फिल्मों में काम भी किया है। ग्रेटा के दादा ओलोफ थनबर्ग भी एक नामी एक्टर रह चुके हैं। उन्होंने स्वीडन में कई रेडियो शो होस्ट् किये हैं। द जंगल बुक 2 जब स्वीडिश भाषा में बनी तो इसमें उन्होंने शेर खान की आवाज दी थी। ग्रेटा के दादा ओलोफ थनबर्ग, स्वांते अरहेनियस (Svante August Arrhenius) के दूर के रिश्तेदार रह चुके हैं। स्वांते को 1903 में केमेस्ट्री के लिए नोबेल पुरस्कार मिल चुका है।  ग्रेटा की छोटी बहन बिएटा अर्नमैन थर्नबर्ग (Beata Thunberg) भी सिंगर हैं। यानि ग्रेटा का परिवार (Greta Thunberg family) का थियेटर, म्यू्जिक और संगीत से लम्बा जुड़ाव रहा है। लेकिन थनबर्ग परिवार का पर्यावरण से जुड़ाव हमेशा से रहा है। पर्यावरण के बारे में यह परिवार कितना सजग है, इसी बात की नजीर पेश करते हुए सोचते हुए ही उनकी मालेना, ग्रेटा, बिएटा और  पिता स्वांते ने एक किताब भी लिखी है। जिसका नाम है Our House is on Fire: Scenes of a Family and a Planet in Crisis, क्‍या है ग्रेटा थनबर्ग की कहानी। जानिए इस वीडियो में ।