जम्मू कश्मीर को दो भागों में बांटने के बाद जम्मू कश्मीर पुर्नगठन बिल संसद के दोनों सदनों से पास हो गया है. जम्मू कश्मीर अब केंद्र शासित प्रदेश होगा और लद्दाख भी अब केंद्र शासित प्रदेश होगा. अनुच्छेद 370 भी एक तरीके से खत्म कर दिया गया है अब अनुच्छेद 370 का खंड 1 ही प्रभावी रह गया है... लेकिन एक बात तय है कि जम्मू कश्मीर का इतिहास और भूगोल बदल गया है, लेकिन ये जानना बहुत जरूरी है कि जम्मू कश्मीर और अनुच्छेद 370 का इतिहास क्या है? आइए शुरू करते हैं 15 अगस्त 1947 से...