इस लोकसभा चुनाव की खास बात ये है कि चुनाव का दारोमदार नई पीढ़ी के हवाले है। लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, सोनिया गांधी , लालू प्रसाद की जगह अब क्रमशः नरेंद्र मोदी ,अमित शाह, राहुल गांधी और तेजस्वी यादव जैस नेता हैं। चुनावी सरगर्मी इन्हीं के इर्द गिर्द है। इस परिवर्तन की वजह क्या रही ? यह परिवर्तन किन पार्टियों में हुआ है , अनुभा भोंसले का विश्लेषण।