बलरामपुर(यूपी):संसदीय क्षेत्र श्रावस्ती पर लगा पिछड़ेपन का कलंक दूर नहीं पा रहा है। श्रावस्ती संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले बलरामपुर की आधी आबादी मूलभूत सुविधाओं के लिए जूझ रहीं हैं। इन्हीं सब परेशानियों को लेकर दैनिक जागरण की ओर से जिले के सेंट जेवियर्स सीनियर सेकेंड्री स्कूल में चुनावी चौपाल लगाई गई। आइए सुनते हैं कि चौपाल में लोगों ने और क्या कहा.

चौपाल में बलरामपुर की बदहाल सड़कों,गंदगी,जिला अस्पताल में इलाज के लिए समय पर चिकित्सकों का न मिलना, लड़का हो या लड़की सबको एकसमान शिक्षा जैसे मुद्दों को लेकर खुलकर बात हुयी... प्रबुद्ध वर्ग में सियासी दलों के प्रति असंतोष नजर आता है। वक्ताओं ने किसी दल के एजेंडे में अब तक आधी आबादी के मूलभूत सुविधाओं का मुद्दा न होने पर आश्चर्य जताया।

जिला बनने के 22 साल बाद भी आधी आबादी मूलभूत सुविधाओं से कोसों दूर है। महिला थानाध्यक्ष की तैनाती नहीं हो सकी है। महिला थाना नहीं बन सका है। पुरुष थाने में ही महिला थाना संचालित किया जा रहा है। दुष्कर्म व मारपीट में पीड़ित महिलाओं को चिकित्सीय परीक्षण के लिए दूसरे जिलों की दौड़ लगानी पड़ रही है। पीड़ित महिलाओं को ठहरने के लिए कोई भवन नहीं बन सका है। जिससे महिलाओं में असुरक्षा की भावना बनी रहती है।