दैनिक जागरण ने राजधानी लखनऊ में चौपाल का आयोजन किया जहां लोगों से बातचीत के दौरान दिनोंदिन गंभीर होती कूड़ा प्रबंधन की समस्या पर निकलकर समाने आई। यहां स्वच्छता को लेकर लोगों ने अपना दायित्व तो समझा साथ ही बड़े स्तर पर इसके समाधान की मांग भी उठाई । बता दें कि कूड़ा प्रबंधन पर्यावरण के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती है। शहर को कूड़ा मुक्त करने के लिए अरबों खर्च किए जा चुके हैं लेकिन समस्या जस की तस बनी हुई है। दरअसल कूड़ा केवल देखने में बुरा नहीं लगता है यह बीमारियों का भी बड़ा कारण है। लेकिन लोगों की माने तो बावजूद इसके सियासी दलों को ये समस्या नहीं लगती। तभी तो चुनावी घोषणा पत्रों में यह मुद्दा नहीं बनती।