11 लोकसभा सीटों और करीब तीन करोड़ आबादी वाले छत्तीसगढ़ में शराब एक बहुत बड़ा चुनावी मुद्दा है। यहां शराब के नाम पर सरकार बनती है और बदलती है। अब लोकसभा चुनाव का दौर चल रहा है। एक बार फिर शराब को लेकर सियासती दांव खेले जा रहे हैं। शराब को मुद्दा बनाया जा रहा है। इसके साथ ही चुनाव के दौरान राज्य में अपने आप शराब की कीमत भी बढ़ गई है। छत्तीसगढ़ में शराब पर सरकार की नीति किस तरह राजनीति समीकरणों को प्रभावित करती है, इसी विषय पर पेश है एक विशेष रिपोर्ट...