भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर ने सनसनीखेज बयान दिया है। प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि पूर्व एटीएस चीफ हेमंत करकरे को संन्यासियों का श्राप लगा था। भोपाल में मीडिया से बात करते हुए प्रज्ञा ठाकुर ने अपने ऊपर प्रताड़ना के कई आरोप लगाए।

भाजपा उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर ने कहा.कि एटीएस मुझे 10 अक्टूबर 2008 को सूरत से मुंबई लेकर गई थी। मुंबई में एटीएस ने 13 दिन तक बंधक बनाकर रखा हुआ था। इस दौरान पुरुष एटीएस कर्मियों ने बहुत प्रताड़ित किया गया.

वहीं दूसरी ओर साध्वी के मुंबई हमले में शहीद हुए हेमंत करकरे को लेकर दिए विवादित बयान पर देश भर से राजनीतिक प्रतिक्रियाएं आ रही हैं  इस कड़ी में जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती,आरजेडी नेता तेजस्वी यादव और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने साध्वी के बयान को लेकर सवाल उठाये हैं.

शहीद हुए हेमंत करकरे को लेकर साध्वी के विवादित बयान पर पूरे देश में बवाल खड़ा हो गया है.भोपाल से उम्मीदवार बनने के बाद साध्वी प्रज्ञा गुरुवार को पहली बार मीडिया के सामने आई थीं. 

गौरतलब है कि हेमंत करकरे 26/11 मुंबई में हुए आतंकी हमले में आतंकवादियों की गोलियों का शिकार हुए थे. इसके अलावा जिस केस में साध्वी प्रज्ञा आरोपी थीं, उस मालेगांव सीरियल ब्लास्ट की जांच इनके पास ही थी. हालांकि,उनकी चार्जशीट पर कई तरह के सवाल खड़े हुए थे.