पश्चिम बंगाल में चुनावी हिंसा के बाद चुनाव आयोग के फैसलों पर विपक्षी पार्टियों ने कड़ी आपत्ति जताई है। कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने बंगाल को लेकर केंद्र सरकार और चुनाव आयोग को लेकर हमला बोला है। सवाल खड़े किए हैं कि  चुनाव प्रचार तय सीमा से पहले खत्म करना था तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली खत्म होने तक का इंतजार क्यों किया गया? बता दें कि मंगलवार को कोलकाता में अमित शाह की रैली में हिंसा और समाज सुधारक ईश्वरचंद्र विद्यासागर की प्रतिमा तोड़े जाने के बाद तनाव को देखते हुए चुनाव आयोग ने तय समय से पहले ही प्रचार पर रोक लगाने की घोषणा की है. पहले से प्रचार 17 मई की शाम को खत्म होना था. लेकिन चुनाव आयोग के आदेश के मुताबिक प्रचार 16 मई की रात 10 बजे तक ही किया जा सकता है।