3 दिसंबर 2018 को बुलंशहर के स्‍याना में गोकशी की अफवाह के बाद ग्रामीणों ने रास्‍ता जाम किया। हिंसा हुई, इसे नियंत्रण करने इंस्‍पेक्‍टर योगेश राज पहुंचे, उनकी भी मौत हो गई थी।  इस हिंसा में सुमित नाम का युवक भी हिंसा का शिकार बना। सुमित की मौत क‍यों हुई, उसकी हत्‍या किसने की, ये आज भी एक अहम सवाल बना हुआ है। अनुभा भोंसले ने सुमित के परिजनों से बात की।