1970 के दशक में राजनीतिक उथल पुथल के दौर के बाद देश में गठबंधन की जिस राजनीति की शुरुआत हुई, वह आज भी जारी है। हालांकि पिछले लोकसभा चुनाव में बीजेपी सरकार को पूर्ण बहुमत मिला था, लेकिन आज भी पार्टी अकेले चुनाव में जाने के खतरे को समझती है। वहीं कांग्रेस पार्टी के लिए गठबंधन करना राजनीतिक मजबूरी है। 23 मई के बाद देश की राजनीति कौन सा स्वरूप लेगी, ये उत्तर प्रदेश के नतीजे तय करेंगे।