जलियांवाला बाग कांड की 100वीं बरसी पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पंजाब के अमृतसर स्थित जलियांवाला बाग मेमोरियल में श्रद्धांजलि दी। बता दें कि साल 1919 में ब्रिटिश सैन्यकर्मियों ने जनरल डायर के आदेश पर जलियांवाला बाग में मौजूद निहत्थे लोगों पर गोलियां बरसा दी थीं। इस नरसंहार में सैकड़ों लोग मारे गए थे। राहुल गांधी शुक्रवार रात को ही अमृतसर पहुंचे थे और शनिवार सुबह यहां पहुंचकर श्रद्धांजलि अर्पित की। राहुल गांधी ने मेमोरियल की विजिटर बुक में संदेश लिखा, 'आजादी के लिए जो कीमत चुकाई गई, उसे कभी भुलाया नहीं जा सकता है। हम भारत के लोगों को सलाम करते हैं जिन्होंने देश की आबादी के लिए अपना सब-कुछ न्योछावर कर दिया।' राहुल ने शुक्रवार रात को अमृतसर में स्वर्ण मंदिर के दर्शन भी किए और अकाल तख्त में माथा टेका। वहीं राहुल गांधी से पहले भारत के ब्रिटिश उच्चायुक्त डॉम्निक ऐस्क्विथ ने भी जलियांवाला बाग मेमोरियल पहुंचकर मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी।