दुनिया भर में आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (International Women's Day)मनाया जा रहा है.इस अवसर पर हम आज आपको कुछ ऐसी हीं धनबाद की जुझारू महिलाओं से रुबरु कराने जा रहे हैं...जो धनबाद रेल मंडल में पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर टेक्नीशियन का कार्य कर रही हैं।

धनबाद रेल मंडल में ये महिलाएं जो यह तय करती हैं ये ट्रेन पटरी पर सुरक्षित दौड़ सके ...इसके लिए उसकी मेंटेनेंस एक अहम कड़ी है और ये तय किया जाता है धनबाद स्टेशन से सटे रेलवे की सिंक लाइन में टेक्नीशियन का कार्य कर रही इन महिलाओं दुवारा । और आज मंजू, बिंदु और बबीता जैसी कई महिलाएं ट्रेनों के मेंटनेंस के इस जोखिम भरे काम को अंजाम दे रही हैं. ट्रेनों के पहिए को दुरुस्त करने से लेकर कई तरह के कार्य ये महिलाएं करती नजर आती हैं. टेक्नीशियन का कार्य कर रही महिलाओं का कहना हैं कि वह पुरुषों से किसी मामले में पीछे नहीं हैं. वह हर वो काम कर सकती हैं जो पुरुष करते हैं. हालांकि महिलाएं ये भी कहती हैं कि अगर काम के दौरान जब भी दिक्कत होती है, तो यहां काम करने वाले पुरूष भी उनका भरपूर सहयोग करते हैं.