देशभर में होली का माहौल बनने लगा है। इस साल 1 मार्च को होलाष्टक समाप्ति के साथ होलिका दहन होगा और 2 मार्च को रंगों के साथ त्योहार मनाया जाएगा। इस वीडियो में हम होली को मुहूर्त और ध्यान रखी जाने वाली खास बातें बताएंगे। सबसे पहले जानते हैं होली की कहानी, होली के पीछे पौराणिक कहानी है कि होलिका को वरदान प्राप्त था कि उसपर आग का असर नहीं होगा, होलिका ने अपने भाई हिरण्यकश्यप की बात मानते हुए अपने भतीजे प्रह्लाद को लेकर चिता पर बैठ गई थी। मगर, भगवान विष्णु की कृपा से होली जल कर भस्म हो गई और प्रह्लाद सकुशल बच निकले। तभी से इस त्योहार को बुराई पर अच्छाई की जीत के रूप में मनाया जाता है काम नहीं बन रहे हैं - अगर आपके काम में लगातार बाधाएं आ रही हैं तो होली पर हनुमान जी को इत्र और गुलाब की माला चढ़ाएं। इन उपायों से आपकी परेशानियां दूर हो सकती है। हर तरह के बिगड़े काम पूरे करने के लिए हनुमानजी को पान का पत्ता, गुड़ और चना अर्पित करें जरूर चढ़ाएं।