नई दिल्ली: मोदी सरकार में देश की पहली वित्त़ मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने पहले बजट में कई बड़ी घोषणाएं की हैं। इन घोषणाओं में रेलवे में निजी भागीदारी बढ़ाने से लेकर देश में महिलाओं, किसान, ग्रामीण भारत के लिए बड़े ऐलान 3 करोड़ छोटे दुकानदारों को पेंशन देने, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के लिए 70 हजार करोड़ देगी सरकार, 100 लाख करोड़ रुपये का निवेश कराने पर जैसे बड़े ऐलान किए हैं..जिसमें में देश में जल्द आदर्श किराया कानून लागू करने तक जैसे विषय भी शामिल हैं।

बजट पेश करने के बाद मोदी सरकार के बजट को लेकर कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा...बजट में  न किसान के लिए, न स्वास्थ्य का जिक्र है और न ही आयुष्मान का जिक्र किया गया है...ऐसे में 5 ट्रिलियन डॉलर की Economy सिर्फ एक सपना है।

वित्तमंत्री यह बजट ऐसे वक्त में पेश कर रही हैं, जब देश की अर्थव्यवस्था में कमजोरी आई है। खराब मानसून की आशंका, वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुस्ती और व्यापारिक युद्ध की चुनौतियां पहले से ही सामने हैं।बढ़ते व्यापारिक तनाव की वजह से वैश्विक अर्थव्यवस्था की स्थिति डांवाडोल हो रही है। 2019 के पहले तीन महीनों में जीडीपी कम होकर 5.8 फीसदी हो चुकी है, जो पांच सालों का न्यूनतम स्तर है। भारत की आर्थिक वृद्धि दर चीन से भी नीचे जा चुकी है, जो 6.4 फीसदी रहा है।