लोक सभा चुनावों का शोर पूरे देश में मचा हुआ है, मगर इस शोर ने विवेक ओबेरॉय की फ़िल्म ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ का काफ़ी नुक़सान पहुंचाया है। चुनावी मौसम में एक पॉलिटिकल लीडर पर बनी फ़िल्म को आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन मानते हुए चुनाव आयोग ने पीएम नरेंद्र मोदी की रिलीज़ पर रोक लगा दी है। ज़ाहिर है कि स फ़िल्म को लेकर उत्साहित विवेक के लिए यह रोक एक झटका है।

पीएम नरेंद्र मोदी के लिए विवेक ने काफ़ी मेहनत की है, जिसके बारे में विवेक ने लाइट्स कैमरा एक्शन के इस एपिसोड में खुलकर बातचीत की है। वेटरन एक्टर सुरेश ओबेरॉय के बेटे विवेक ओबेरॉय ने राम गोपाल वर्मा की कंपनी से बॉलीवुड में अपना करियर शुरू किया था। पहली ही फ़िल्म में अपनी धारदार एक्टिंग से विवेक ने दर्शकों का दिल जीत लिया था और उनमें काफ़ी संभावनाएं देखी जाने लगी थीं। मगर, विवेक का करियर जब शेप अप हो रहा था, तब ही उनके जीवन में सलमान ख़ान वाला एपिसोड हुआ, जिसने पूरी इंडस्ट्री को हिलाकर रख दिया था।

विवेक को इसके बाद काफ़ी संघर्ष करना पड़ा, मगर उन्होंने पुरानी बातों को भुलाकर आगे बढ़ने में दिलचस्पी रखी और ख़ुद को भरोसेमंद एक्टर के तौर पर स्थापित कर लिया। विवेक ने PM Narendra Modi बायोपिक और अपनी ज़िंदगी से जुड़े ऐसे तमाम पहलुओं पर विस्तार से बातचीत की है।