डायरेक्टर अभिषेक शर्मा इस सिंपल कहानी को थोड़ा और बेहतर दिखा सकते थे. रोमांस उन्होंने ठीकठाक दिखाया लेकिन फिल्म को वो पूरी तरह से जोड़ नहीं पाए. हालांकि फिल्म के सेकेंड हाफ में दिखाया गया क्रिकेट मैच आपको असली क्रिकेट मैच की फील देता है. ये एक रोमांटिक कॉमेडी फिल्म है, जिसके जोक्स बहुत अच्छे नहीं हैं. फिल्म में जोक्स से ज्यादा आपको लोगों की हरकतों पर हंसी आएगी. माना कि फिल्म में जोया सोलंकी एक ऐड एजेंसी में काम करती है लेकिन इसका मतलब ये तो नहीं कि पूरी फिल्म में ऐड ही ऐड भरी होनी जरूरी है.  देखें फिल्म को मिले कितने स्टार