ये रजनीकांत की माया है कि उनके प्रति पागलपन, हद पार करने वाली दीवानगी और मंदिर बना कर पूजने वाले सिने-प्रेमियों की आस्था है। लोग कहते हैं, चुटकुले बनते हैं – रजनीकांत अनहोनी का दूसरा नाम है। वो कुछ भी कर सकते हैं, वो भी जो कभी सपने में भी नहीं देखा जा सकता, इन सब बातों से अलग, रजनीकांत एक एक्टर का नाम है। सादगी पसंद। बहुत ही कम बोलने वाले। सिर्फ़ अपने काम से वास्ता। पर हाल के वर्षों में रजनीकांत ने दक्षिण की राजनीति में जो आवाज़ बुलंद की उसे तमिलनाडु की सरकार भी हिल चुकी हैं। लेकिन हम सबने परदे का वो करिश्मा देखा है, बीते 43 सालों में। बंगलूर में एक मराठा परिवार में जन्मे शिवाजीराव गायकवाड के बस कंडक्टर बनने से लेकर भारतीय सिनेमा के सुपरस्टार बनने की कहानी बड़ी ही रोचक है, देखें ये वीडियो