आयुर्वेद विश्व की प्राचीनतम चिकित्सा प्रणालियों में से एक है। यह विज्ञान, कला और दर्शन का मिश्रण है। आयुर्वेदनाम का अर्थ है, ‘जीवन का ज्ञानऔर यही संक्षेप में आयुर्वेद का सार है। इस वीडियो में डॉक्टर अजय कुमार सक्सेना आपको बताएंगे कि वर्षा ऋतु में आप अपने शरीर का बचाव कैसे करें। हमें मूल रूप से दो काम करने हैं। एक काम हमें करना है कि जो जठराग्नि मंद हुई है हमारी उसको हमें बढ़ाना है दूसरा क्या है कि वात और पित्त मूल रूप से इसमें क्या है की वात दोष का प्रकोप होता है और पित्त दोष का संचय होता है । तो हमें इन दोनों दोषो को साम्य अवस्था में लाने के लिए कार्य  करना चाहिए । रोग प्रतिरोधक शक्ति हमारी इस समय कम होती है तो रोग प्रतिरोधक शक्ति को भी हमें बढ़ाना होता है। तो अगर हम लोग बात करें कि हमें क्या आहार और विहार करना चाहिए जिससे की हम वर्षा ऋतु में उत्पन्न होने वाली व्याधियों से हम बच सकते हैं।