जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी: चारधाम यात्रा खुलते ही तीर्थयात्री धामों में पहुंचने लगे हैं। गंगोत्री और यमुनोत्री धाम में भी श्रद्धालुओं ने दर्शन किए। भले ही अभी यात्रियों की संख्या सीमित है। लेकिन, आने वाले दिनों में यात्रियों की संख्या बढ़ने की उम्मीद है। शनिवार को गंगोत्री और यमुनोत्री राजमार्ग पर यातायात भी सुचारू रहा।

कोविड गाइडलाइन के अनुसार, शनिवार को चारधाम यात्रा शुरू हो गई है। गंगोत्री धाम के दर्शन के लिए टिहरी जनपद से 40 श्रद्धालु अपने देवता के साथ पहुंचे। इसके बाद गुजराज के सूरत से 10 श्रद्धालुओं का दल पहुंचा। इन श्रद्धालुओं ने गंगोत्री धाम के दर्शन किए और पूजा-अर्चना की। इसके साथ दिल्ली, हरियाणा आदि राज्यों से करीब 10 श्रद्धालुओं का दल पहुंचा। सूरत से आई बीना बहन व मुकेश पटेल ने बताया कि 15 सितंबर को वे हरिद्वार पहुंचे थे, 16 सितंबर को चारधाम यात्रा खुलने की सूचना मिली है तो फिर चारधाम यात्रा करने की सोची। गंगोत्री धाम के दर्शन करने पर उन्हें बहुत अच्छा लग रहा है। मुकेश पटेल ने बताया कि उन्हें रास्ते में किसी तरह की परेशानी नहीं हुई है। गंगोत्री में उत्तरकाशी से लेकर हर्षिल धराली तक अधिकांश होटल संचालित हैं। जिनमें पर्यटकों की आवाजाही हो रही है। गंगोत्री धाम में भी चहल-पहल शुरू हो गई है। कोविड गाइडलाइन पालन के लिए गंगोत्री वीआइपी पार्किंग के पास एक टीम मास्क और सैनिटाइजर के साथ रही, जबकि दूसरी दूरी टीम मंदिर परिसर में मौजूद रही। वहीं जानकीचट्टी से यमुनोत्री पैदल मार्ग पर स्ट्रीट लाइट, पीने का पानी और सफाई के साथ यात्रियों की व्यवस्था के लिए घोड़ा, खच्चर डंडी-कंडी संचालन की व्यवस्था भी रोटेशन के हिसाब से शुरू नहीं हुई है।

Edited By: Jagran