उत्तरकाशी : विश्व हिदू परिषद, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद और निर्मल गंगा जन अभियान शांतिकुंज के संयुक्त तत्वावधान में पदाधिकारियों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन के माध्यम से पदाधिकारियों ने गंगा तट किनारे संचालित अवैध मांस की दुकानों को बंद करने की मांग की है। उन्होंने मांग पूरी नहीं होने पर शासन-प्रशासन के खिलाफ उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।

सोमवार को जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान को ज्ञापन सौंपते हुए समिति पदाधिकारियों ने कहा कि उत्तरकाशी में गंगोत्री और यमुनोत्री धाम हैं। यात्रा काल के दौरान इन धामों में रोजाना लाखों श्रद्धालु देव दर्शन के लिए आते हैं। उत्तरकाशी में पौराणिक मंदिर काशी विश्वनाथ है। गंगोत्री धाम के दर्शन करने और जाने से पहले तीर्थयात्री इस मंदिर में दर्शन के लिए आते हैं। धर्मनगरी होने के बावजूद यहां गंगा तट किनारे खुलेआम अवैध रूप से मांस की दुकानें संचालित हो रही हैं। मांस की दुकानों से निकलने वाला सारा मैला मां भागीरथी में प्रवाहित हो रही है। कहा मां गंगा को निर्मल एवं स्वच्छ बनाने के लिए केंद्र और प्रदेश सरकार अरबों रुपये खर्च कर रही है। उसके बावजूद भी मां गंगा अपने मायके में ही दूषित हो रही है। इस मौके पर चंद्रप्रकाश बहुगुणा, गौतम रावत, चैन सिंह चौहान आदि शामिल थे। (संस)

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस