जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी : उत्तरकाशी के प्रसिद्ध माघ मेले (बाड़ाहाट का थौलू) का सोमवार से भव्य आगाज हो गया है। मेले का उद्घाटन कंडार देवता की डोली और हरि महाराज के ढोल की मौजूदगी में किया गया। यह मेला 21 जनवरी तक चलेगा।

जिला पंचायत की ओर से आजाद मैदान में माघ मेले की तैयारियां सोमवार सुबह से शुरू हो गई थी। पंडाल में लगी 400 दुकानें सजनी शुरू हुई। कंडार देवता मंदिर में कंडार देवता की डोली सीधे मेलास्थल पर पहुंची। इसके साथ ही बाड़ागड़ी क्षेत्र से हरि महाराज के ढोल के साथ आई अन्य देवी-देवताओं की डोलियां भी पहुंची, जहां देव डोलियों को नचाया गया। इस मौके पर स्थानीय महिलाओं और पुरुषों ने रांसो नृत्य भी किया। कंडार देवता व हरि महाराज के साथ जिला पंचायत अध्यक्ष जशोदा राणा ने मेले का उद्घाटन किया। इस मौके पर जिला पंचायत अध्यक्ष जशोदा राणा ने कहा कि पुरानी संस्कृति को कैसे जीवित रखा जाए, यह एक चुनौती है। जनपद का प्रसिद्ध माघ मेला 2019 का आयोजन भव्य रूप से किया गया है। इस वर्ष माघ मेले में अधिक संख्या में स्थानीय तथा कुछ बाहर के प्रसिद्ध कलाकारों को आमंत्रित किया गया है, जो यहां की संस्कृति का वृहद् रूप से प्रदर्शन करेंगे। इस मौके पर नगर पालिका अध्यक्ष अनुपमा रावत, जिला पंचायत सदस्य पवन नौटियाल, लक्ष्मण ¨सह भंडारी, जितेंद्र ¨सह, हर्ष अग्नोत्री, मंगला राणा, संतोषी सजवाण, जितेंद्र राणा आदि मौजूद थे।

शहर में निकाली गई भव्य कलश यात्रा

माघ मेले के शुभारंभ पर गंगा यमुना कलश शोभायात्रा पूरे शहर में निकाली गई। इस मौके पर बड़ी संख्या में शहर की महिलाओं व अन्य लोगों ने कलश यात्रा में भाग लिया। कलश यात्रा के दौरान महिलाओं व स्कूली छात्र-छात्राओं ने भजन के साथ मां गंगा के जयकारे भी लगाए। शहर के भ्रमण के बाद कलश यात्रा विश्वनाथ मंदिर से होते हुए मेलास्थल पर पहुंची। कलश शोभायात्रा का नेतृत्व जिला पंचायत अध्यक्ष जशोदा राणा ने किया।

Posted By: Jagran