जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी: Gangotri National Park पर्वतारोहण व ट्रैकिंग के लिए प्रसिद्ध गंगोत्री नेशनल पार्क और गर्तांगली की सैर के लिए पर्यटकों को अब अगले वर्ष एक अप्रैल तक का इंतजार करना पड़ेगा। पार्क व गर्तांगली के गेट बुधवार 30 नवंबर को शीतकाल के लिए बंद किए जाने हैं।

इस बार 28500 पर्यटकों ने की पार्क की सैर

इस बार गंगोत्री नेशनल पार्क में पर्यटकों की संख्या के साथ राजस्व अर्जित करने का भी रिकार्ड बना है। इस बार 28500 पर्यटकों ने पार्क की सैर की है। जबकि पार्क प्रशासन को प्रवेश शुल्क के रूप में 60 लाख रुपये से अधिक का राजस्व प्राप्त हुआ। इससे पूर्व, वर्ष 2019 में 18883 पर्यटकों ने पार्क की सैर की थी।

बुधवार को आयोजित होंगे कार्यक्रम

गेट बंद करने के दौरान गंगोत्री नेशनल पार्क के कनखू बैरियर, भैरवघाटी नेलांग बैरियर और गर्तांगली जाने वाले लंका पुल बैरियर पर कार्यक्रम आयोजित होंगे। इस बार पार्क की सैर करने वाले पर्यटकों की संख्या काफी अधिक रही।

800 से अधिक विदेशी पर्यटक भी आए

गंगोत्री नेशनल पार्क के रेंज अधिकारी प्रताप पंवार ने बताया कि 800 से अधिक विदेशी पर्यटक भी पार्क की सैर के लिए पहुंचे। पर्वतारोहण के शौकीन विदेशी पर्वतारोहियों की संख्या भी संतोषजनक रही।

अगले वर्ष एक अप्रैल को खोले जाएंगे पार्क के गेट

बताया कि अब पार्क के गेट अगले वर्ष पहली अप्रैल को खोले जाएंगे। वहीं, गर्तांगली की सैर को भी बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंचे। गोमुख और तपोवन क्षेत्र में भी पर्यटकों की चहल-कदमी काफी अच्छी रही।

वर्ष 2020 में कोविड संक्रमण के चलते पार्क में गतिविधियां पूरी तरह बंद रही थीं। कोविड का असर वर्ष 2021 में भी दिखा और करीब 8500 पर्यटकों ने ही पार्क की सैर की। तब गंगोत्री नेशनल पार्क को 14 लाख रुपये से अधिक का राजस्व प्राप्त हुआ था।

वर्षवार गंगोत्री नेशनल पार्क आए पर्यटक

  • वर्ष------पर्यटक------राजस्व (लाख रुपये में)
  • 2022----28560------60
  • 2021-----6540-------14.10
  • 2020-----00-----------00
  • 2019-----18883------41.26
  • 2018-----17108------36.34
  • 2017-----16881------38.30
  • 2016------12643------31.41

Edited By: Sunil Negi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट