उत्‍तरकाशी, [जेएनएन]: जिले में मंगलवार सुबह चार बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्‍टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 3.2 मापी गई। लोग डर के मारे अपने घरों से बाहर निकल आए। हलांकि, भूकंप से जनहानि की कोई सूचना नहीं है।

प्राप्‍त जानकारी के अनुसार, मंगलवार सुबह करीब चार बजकर छह मिनट पर उत्‍तरकाशी और रुद्रप्रयाग के सीमा क्षेत्र में धरती डोल उठी। आईएमडी के अनुसार भूकंप सुबह चार बजकर छह मिनट पर आया। इसकी तीव्रता रिक्‍टर पैमाने पर 3.2 मापी गई। इससे पहले 6 जून को उत्तरकाशी और आसपास के क्षेत्रों में भूकंप का हल्का झटका महसूस किया गया था। भूकंप के झटके हल्के होने के कारण अधिक लोगों को इसका पता नहीं चल पाया, लेकिन मनेरी, भटवाडी, गंगोत्री, हर्षिल क्षेत्र में भूकंप के झटके ने लोगों को नींद से जगाया। भूकंप आने से लोगों में हड़कंप मच गया। आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल ने बताया कि भूकंप का केंद्र उत्तरकाशी व रुद्रप्रयाग का बॉर्डर क्षेत्र रहा। झटका हल्का होने के कारण नुकसान की सूचना नहीं।

14 जून को उत्तरकाशी में आए थे भूकंप के दो झटक

उत्तरकाशी जिले की गंगा और यमुनाघाटी में  बीते 14 जून को भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। उत्तराखंड भूकंप के दृष्टि से जोन आठ में है। यहां पहले भी बड़े भूकंप आ चुके हैं। उत्तरकाशी के लोग वर्ष 1991 में आए विनाशकारी भूकंप को अभी भूले नहीं हैं। उस दौरान करीब सात सौ लोगों की मौत हो गई थी। यहां हाल ही में छह जून को भी भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। हालांकि, उस दिन केंद्र टिहरी जनपद था, इसकी तीव्रता ज्यादा नहीं थी। 14 जून की सुबह करीब 6.12 बजे भूकंप के पहला झटका महसूस किया गया था। इससे लोग घरों से बाहर निकल आए थे। इसके बाद 6 बजकर 23 मिनट पर दूसरा झटका महसूस किया गया था। भूकंप की तीव्रता 4.0 आंकी गई थी। इसका केंद्र उत्तरकाशी मुख्यालय से दस किलोमीटर दूर था। इसका अक्षांश 30.8N, देशान्तर 78.2E और गहराई  10km रही थी।

यह भी पढ़ें: सिस्मोग्राफ यंत्र से भूकंप की पहले ही मिल जाएंगी सूचना

यह भी पढ़ें: उत्तरकाशी में भूकंप के दो झटकों से दहशत में लोग

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस