उत्तरकाशी, जेएनएन। उत्तरकाशी जिला में एक बार फिर धरती डोल उठी। इस बार झटके यमुना घाटी में महसूस किए गए। उत्तरकाशी के जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल ने बताया कि इसकी तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 3.1 मापी गई और केंद्र जिला मुख्यालय से 28 किमी दूर भटवाड़ी के पास दर्ज किया गया। अभी तक जानमाल के नुकसान का कोई समाचार नहीं है।

शनिवार सुबह करीब साढ़े आठ बजे भूकंप के झटके महसूस होते ही लोग घरों से बाहर निकल आए। हालांकि इसका असर सीमित दायरे में रहा, लेकिन भटवाड़ी, रैथल, बार्सू क्षेत्र में लोग देर तक घरों के भीतर जाने से घबराते रहे। उत्तरकाशी के जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान ने बताया कि भूंकप को देखते हुए अफसरों को सतर्कता के निर्देश दिए गए हैं, लेकिन अभी तक कहीं से किसी प्रकार के नुकसान की सूचना नहीं है।

बीते तीन सप्ताह में यह दूसरा मौका है। इससे पहले 13 अप्रैल को उत्तरकाशी की गंगा घाटी में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। इस साल अब तक जिले में भूकंप रिकार्ड किया जा चुका है। गौरतलब है कि उत्तरकाशी भूकंप के लिहाज से संवेदनशील  है। 20 अक्टूबर 1991 को आए भूकंप में आठ सौ से अधिक लोग मारे गए थे। 

यह भी पढ़ें: उत्‍तरकाशी में आया भूकंप, दो बार डोली धरती; लोग घरों से निकले बाहर

यह भी पढ़ें: भूकंप की जानकारी को उत्तराखंड में लगे 155 सेंसर, चंद सेकेंड में जारी होगा अलर्ट

यह भी पढ़ें: उत्तरकाशी में महसूस किए गए भूकंप के झटके, दहशत में आए लोग

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sunil Negi