जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी। मुख्यमंत्री त्वरित समाधान कार्यक्रम के अन्तर्गत नौगांव प्रखंड के मटियाली गांव में जिलाधिकारी मयूर दीक्षित की अध्यक्षता में सोमवार देर रात तक रात्रि चौपाल आयोजित की गई। इस दौरान विधायक पुरोला राजकुमार भी उपस्थित रहे। मटियाली गांव चौक में आयोजित रात्रि चौपाल में ग्रामीणों द्वारा सिंचाई टैंक, सड़क डामरीकरण, लिफ्ट पम्पिंग योजना व विद्युत विस्तारीकरण, विद्यालयों के भवन मरम्मत कार्य, प्रधानमंत्री आवास, स्वास्थ्य उप केंद्र सहित अनेक समस्याएं दर्ज कराई। जिसमें अधिकांश समस्याओं का निस्तारण मौके पर ही किया गया।

रात्रि चौपाल में ग्रामीणों द्वारा नौगांव-मटियाली सड़क मार्ग डामरीकरण व मटियाली से बिंगसी तक लिंक मार्ग बनाने, सियोरी में सेब बागवानों के लिए सिंचाई टैंक बनाने की मांग प्रमुखता से रखी। ग्रामीणों द्वारा बताया गया कि मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुरूप देवराण लिफ्ट पम्पिंग योजना को सियोरी सेब बाग तक विस्तारित किया जाय। ताकि बागवानों को सिंचाई की सुविधा मिल सकें। सियोरी में सेब की अच्छी तादात है, इस के लिए मंजियाली में सेब कलेक्शन सेंटर, पंचायत चौक के पास बरात घर बनाने व प्राथमिक विद्यालय भवन का पुनः निर्माण करने, कृषि सिंचाई के अंर्तगत, गुल व नहर निर्माण व विद्युत केबल लाइन विस्तारीकरण करने की भी मांग की गई। पात्र ग्रामीणों को प्रधानमंत्री आवास दिलाने व दिव्यांग प्रमाण पत्र बनाने के लिए शिविर लगाने का भी अनुरोध किया गया। मंजियाली बिंगसी समेत आदा दर्जन से अधिक गांव की जनसंख्या तीन हजार से अधिक है। इस के लिए स्वास्थ्य उप केंद्र खोलने की मांग ग्रामीणों द्वारा की गई।

जिलाधिकारी ने कहा कि स्वास्थ्य उप केंद्र मटियाली या बिंगसी में बनाना है। इसके लिए ग्रामीण आपस में तय कर लें तथा उपयुक्त स्थान का चयन कर प्रस्ताव प्रभारी चिकित्साधिकारी नौगांव को देने को कहा। ताकि उस पर अग्रिम कार्रवाई की जा सकें। उद्यान विभाग को सेब कलेक्शन सेंटर बनाने के लिए प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिए। कृषि व मनरेगा के अंतर्गत सिंचाई टैंक बनाने के निर्देश दिए। नौगांव-मटियाली सड़क मार्ग का प्रतिकर नहीं मिला का मामला भी ग्रामीणों द्वारा उठाया गया। जिस पर ईई द्वारा अवगत कराया गया कि जिन लोगों का प्रतिकर का भुगतान नहीं हुआ है। उनका प्रतिकर का भुगतान कर दिया जाएगा। इस के लिए धनराशि स्वीकृत हो चुकी है। जरड़ा में जूनियर व तेड़ा में बेसिक स्कूल भवन की मरम्मत करने की मांग की गई । जिस पर जिलाधिकारी ने प्रस्ताव देने के निर्देश शिक्षा विभाग को दिए। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कोविड टीकाकरण को लेकर भी ग्रामीणों से जानकारी ली और आशा कार्यकत्री को कोविड टिकाकरण में भरपूर सहयोग प्रदान करने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने कहा कि रात्रि चौपाल में जितनी भी समस्या उजागर हुई है, उनका मौके पर ही त्वरित निस्तारण किया गया है, जो समस्या संबंधित विभागों एवं शासन स्तर की रही उनका निस्तारण एक सप्ताह के भीतर जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। इस दौरान जिला पंचायत सदस्य दलबीरचंद, प्रधान राजकुमारी, जगेंद्र सिंह राणा, सरदार सिंह रावत, जगदेव सिंह रावत, संदीप, सहित अधिक संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें-दोगी के गांवों में बूंद-बूंद पानी के लिए मोहताज हुए ग्रामीण, पढ़िए पूरी खबर

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Sunil Negi