उत्तरकाशी, [जेएनएन]: ब्रिटेन के तीन पर्वतारोही गंगोत्री हिमालय की सबसे ऊंची चोटी चौखंभा-प्रथम का आरोहण करने में सफल रहे हैं। वर्ष 2014 के बाद इस चोटी का आरोहण करने वाला यह पहला दल है। माउंट हाइविंड ट्रैकिंग एंड माउंटेनियरिंग एजेंसी के तत्वाधान में ब्रिटेन का चार सदस्य पर्वतारोही दल बीती 20 मई को चौखंभा-प्रथम के आरोहण को रवाना हुआ था। 

इस दल के तीन सदस्यों ने दस जून को समुद्रतल से 7138 मीटर ऊंची इस चोटी को फतह हासिल करने में सफलता हासिल की। माउंट हाइविंड ट्रैकिंग एंड माउंटेनियरिंग एजेंसी के संचालक जयेंद्र राणा ने बताया कि ब्रिटिश पर्वतारोही माल्कॉलम नेल बास, गुए बुकिंगम व पॉल माइकेल ने चौखंभा का सफल आरोहण किया। जबकि, दल में शामिल हमिश फ्रोस्ट आरोहण नहीं कर पाए। 

उन्होंने बताया कि इस दल ने अपना बेस कैंप सुंदरवन में बनाया था। ब्रिटिश पर्वतारोही माल्कॉलम नेल इस दल का लीडर थे, जो वर्ष 1995 में सुंदरवन के पास श्वाचन चोटी के आरोहण के लिए आ चुके हैं। लेकिन, मौसम खराब होने के कारण वह इसमें सफल नहीं हो पाए। बताया फिर यह दल वर्ष 1998 में श्वाचन के आरोहण को आया। लेकिन, हिमस्खलन होने से इस बार भी सफलता नहीं मिली। इस बार दल ने चौखंभा चोटी को चुना। 

आपको बता दें कि चौखंभा-प्रथम चोटी का आरोहण वर्ष 2014 में भी एक विदेशी दल ने ही किया था। इसके बाद यह पहला दल है। पर्वतारोहियों के साथ गाइड कपिल पंवार, 35 पोर्टर, कुक और तीन सहयोगी शामिल थे।

यह भी पढ़ें: खत्म हुआ दो देशों के बीच सैन्य अभ्यास, अब निपटेंगे आपदा और आतंकवाद से 

यह भी पढ़ें: भारत-नेपाल के जवानों ने सीखे आतंकवादियों के अचानक हमले से निपटने के तरीके

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021