उत्तरकाशी / पुरोला, जागरण कार्यालय : विभिन्न शास्त्रीय और लोक कलाओं के संवर्धन संरक्षण एवं प्रचार प्रसार अभियान के तहत संस्कार भारती कला जत्थे का उत्तरकाशी व पुरोला में स्वागत किया गया। इस दौरान गोष्ठी आयोजित कर कलाओं के जरिये एक सांस्कृतिक आंदोलन खड़ा करने का संकल्प लिया गया।

उत्तरकाशी में नगर पालिका सभागार में आयोजित गोष्ठी में संस्कार भारती के राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री त्रयंबक गणेश पंत रोडे ने लुप्त होती क्षेत्र की संस्कृति व लोक कला को जीवित रखने को स्थानीय कला व संस्कृ ति साधकों से अपील की। उन्होंने संस्कारों के संरक्षण के लिये जिला स्तर पर कला महोत्सव मनाने की आवश्यकता पर जोर दिया। इस दौरान संस्कार भारती के प्रांतीय संयोजक देवेंद्र रावत ने भी विचार व्यक्त किये। इससे पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह चौहान ने बतौर मुख्य अतिथि दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस मौके पर जिला संयोजक जयप्रकाश राणा, दिनेश भट्ट हरीश डंगवाल, माधव भट्ट, द्वारिका सेमवाल, सुरेंद्र पुरी, राजीव तलवार सहित अनेक लोग मौजूद रहे।

इससे पूर्व पुरोला में संस्कार भारती संगठन के प्रान्तीय मंत्री रोशनलाल अग्रवाल द्वारा संगोष्ठी में क्षेत्र के कला, साहित्य व संस्कृति प्रेमियों से स्थानीय सांस्कृतिक धरोहरों व पुरातात्विक संपत्तियों सहित लोककलाओं के संरक्षण तथा स्थानीय संस्कृति, स्थानीय मठ-मंदिरों के कला सृजन करने वाले काष्ठ कला के कारीगरों की कला साधना को जीवित रखने व प्रोत्साहित करने की अपील की। गोष्ठी में संगठन के ब्लाक अध्यक्ष विनोद अग्रवाल, संगठन के साहित्य प्रमुख कैलाश लोहानी ने, बीडी माहिल, चन्द्र भूषण विजल्वाण, भजन सिंह रावत, उमराव सिंह मनराल, अष्टम असवाल, विरोजा, स्नेहा, अनिल असवाल सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर