संवाद सूत्र, बड़कोट (उत्तरकाशी): यमुनोत्री नेशनल हाईवे पर यमुनोत्री धाम से 16 किमी पहले राणा चट्टी के पास झज्जर गाड़ में अचानक आए उफान से हाईवे का 30 मीटर से अधिक हिस्सा बह गया। इससे यमुनोत्री धाम का संपर्क पूरी तरह से जिला मुख्यालय उत्तरकाशी से कट गया है। एनएच के अधिकारियों के अनुसार हाईवे को सुचारू करने में चार दिन का समय लग जाएगा। इसके साथ ही हाईवे पर डाबरकोट भूस्खलन जोन सक्रिय हो गया है। यहां नेशनल हाईवे विभाग ने जेसीबी मशीन मौके पर तैनात कर दी है ताकि समय पर हाईवे सुचारू हो सके।

बीती शनिवार रात सीमांत जनपद में जमकर बारिश हुई। बारिश के कारण नदी-नाले उफान पर हैं। 30 मीटर हाईवे टूटने से राणा गांव, दांगुड गांव, पिडकी, मदेश, वाडिया, नारायणपुरी, खरसाली, हनुमानचट्टी, बनास और फूलचट्टी से भी पूरी तरह संपर्क कट गया है। स्थानीय निवासी महावीर पंवार और विजय सिंह के अनुसार वर्ष 2000 में भी झज्जर गाड़ ने तबाही मचाई थी। एक बार फिर से झज्जर गाड़ उफान पर है। ग्रामीणों ने राष्ट्रीय राजमार्ग विभाग के प्रति नाराजगी जताई है। ग्रामीणों का कहना है कि विभाग को कई बार झज्जर गाड़ से होने वाले खतरे के बारे में बताया गया। लेकिन, यहां विभाग ने सुरक्षात्मक दृष्टि से कोई ठोस कार्य नहीं किए हैं।

---------

झज्जरगाड़ के पास राष्ट्रीय राजमार्ग की टीम यमुनोत्री हाईवे को सुचारू करने में जुट गई है। चार दिन का समय हाईवे को सुचारू करने में लगेगा।

नवनीत पांडेय, अधिशासी अभियंता, बड़कोट खंड, एनएचआइए

------------

तीन मोटर मार्ग बंद

नई टिहरी : रविवार तड़के हुई बारिश से जिले के तीन ग्रामीण मोटर मार्ग बंद हो गए। इनमें नरेंद्रनगर-नीर, मलेथा-बडोन, सीताकोट-बनाली मोटर मार्ग शामिल हैं। वहीं बारिश के चलते हिसरियालखाल क्षेत्र के ग्राम खोला में बसंती देवी का पुराना मकान आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुआ है। जबकि, इसी क्षेत्र के ग्राम भंडाली में एक गोशाला भी क्षतिग्रस्त हुई है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस