संवाद सूत्र, शक्तिफार्म: निर्मल नगर के आधा दर्जन किसानों ने खनन ठेकेदार पर बैगुल नदी से सिल्ट निकालने की आड़ में उनकी भूमिधरी जमीन से अवैध खनन करने का आरोप लगाया है। मौके पर पहुंचे क्षेत्र के कई जनप्रतिनिधियों व किसानों ने इसका पुरजोर विरोध किया। सूचना पर शक्तिफार्म पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले की जानकारी की। चौकी प्रभारी ने राजस्व विभाग को मामले की सूचना दे दी। जिसके बाद राजस्व विभाग ने खनन कार्य रुकवा दिया है।

बैगुल नदी से सिल्ट निकालने के लिए ठेकेदार द्वारा रविवार को खनन किया जा रहा था। आरोप है कि सिल्ट निकालने की आड़ में ठेकेदार ने निर्मल नगर के आधा दर्जन किसानों की भूमिधरी जमीन से अवैध खनन शुरू कर दिया। जिसकी जानकारी मिलने पर गुरुग्राम क्षेत्र के जिला पंचायत सदस्य उत्तम आचार्य, किसान सेवा सहकारी समिति के उपाध्यक्ष विजय कुमार सिंह समेत कई जनप्रतिनिधियों व किसानों ने मौके पर पहुंचकर विरोध शुरू कर दिया। सूचना पर चौकी प्रभारी संजीत कुमार पुलिस कर्मियों के साथ मौके पर पहुंचे तथा मामले की जानकारी ली। जिसके बाद चौकी प्रभारी ने राजस्व विभाग को मामले की जानकारी दी तथा संबंधित पटवारी से वार्ता की। चौकी प्रभारी ने बताया कि राजस्व विभाग द्वारा खनन कार्य रुकवा दिया गया है सोमवार को राजस्व विभाग द्वारा किसानों व ग्रामीणों की मौजूदगी मे खनन क्षेत्र की हदबंदी कराने के बाद ही सिल्ट निकालने की बात कही है।

इधर किसानों ने जिला पंचायत सदस्य उत्तम आचार्य के माध्यम से उपजिलाधिकारी को भेजे प्रार्थना पत्र बताया कि निर्मल नगर क्षेत्र में उनकी भूमिधरी की जमीन है।वर्तमान में बैगुल नदी का बहाव उनकी जमीन के बीचो-बीच है। आरोप लगाया कि ठेकेदार द्वारा नदी से सिल्ट निकलने की आड़ में उनकी जमीन में अवैध खनन किया जा रहा है। प्रार्थना पत्र में साधन सरकार, रामकृष्ण विश्वास, परिमल सरदार सहित आधा दर्जन किसानों व जिला पंचायत सदस्य उत्तम आचार्य, सहकारी समिति उपाध्यक्ष विजय कुमार सिंह के हस्ताक्षर हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस