शक्तिफार्म, संवाद सूत्र : Ruckus on death of old man in Shaktifarm: सुरेंद्रनगर के मंदिर के पास सोमवार को एक वृद्ध का शव संदिग्ध हालत में मिला। इससे ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा। उन्होंने पुलिस चौकी पर शव रखकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। कहा कि चार दिन पहले वृद्ध ने एक महिला और उसके दो पुत्र पर उसकी झोपड़ी जलाने का आरोप लगाकर पुलिस से कार्रवाई की मांग की थी, मगर कार्रवाई नहीं की गई। ग्रामीणों ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए आरोपितों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार करने की मांग की।

सितारगंज से पहुंची पुलिस

टैगोर नगर निवासी पंचानन मजूमदार का उसके पड़ोसी महिला व उसके दो पुत्र के साथ लंबे समय से जमीन विवाद चल रहा था। यह मामला कोर्ट में चल रहा है। 24 नवंबर को पंचानन ने पुलिस चौकी शक्तिफार्म में तहरीर देकर पड़ोसी महिला एवं उसके दो पुत्र पर झोपड़ी जलाने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की थी। अग्निकांड में कुछ नकदी समेत घरेलू सामान जलकर राख हो गया था। सोमवार को पंचानन का शव सुरेंद्रनगर मंदिर के पास मिलने से स्वजन व ग्रामीण भड़क गए।

परेशान होकर जहर खाकर की आत्महत्या

स्वजनों ने कहा कि पंचानन ने महिला व उसके पुत्र पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था। चार दिन पूर्व उसकी झोपड़ी जलाने के बाद भी प्रताड़ना एवं पुलिस द्वारा आरोपितों के विरुद्ध कार्रवाई नहीं की गई तो इससे परेशान पंचानन ने जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली। ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए सितारगंज थाना से भी पुलिस फोर्स शक्तिफार्म पहुंची।

काशीपुर में रेलवे क्रासिंग के पास चिप्स के पैकेट से धमाके, भड़की आग, क्रॉसिंग बंद होने से लगा जाम, देखें Video 

आरोपितों पर कार्रवाई की मांंग पर अड़े ग्रामीण

प्रभारी कोतवाल बसंती आर्य ने पंचानन के स्वजनों व ग्रामीणों को समझाने की काफी कोशिश की, लेकिन ग्रामीणों ने बिना कार्रवाई के शव का पोस्टमार्टम कराने से इन्कार कर दिया। कहा कि अग्निकांड के बाद आरोपितों के विरुद्ध पुलिस ने ठोस कार्रवाई की होती तो पंचानन को आत्महत्या नहीं करनी पड़ती। प्रदर्शन करने वालों में मृतका की पत्नी प्रमिला, पुत्र गोपाल, पुत्री हरिदासी, जानकी, रेखा, सुचित्रा, मनीषा, टैगोर नगर के ग्राम प्रधान राकेश रस्तोगी, पूर्व प्रधान किशोर राय, पूर्व उप प्रधान आनंद सरकार, सुमित मंडल, नगर पंचायत सभासद देवाशीष पोद्दार, लक्ष्मी चौधरी, आकांक्षा चौधरी, सत्यरंजन, पवित्र, अशोक आदि मौजूद थे।

चार घंटे बाद पोस्टमार्टम के लिए राजी हुए स्वजन

पुलिस ने आरोपित महिला एवं उसके दोनों पुत्रों की गिरफ्तारी का फोटो स्वजनों व ग्रामीणों को मोबाइल पर दिखाया। इसके बाद करीब चार घंटे बाद वह शव का पोस्टमार्टम कराने को राजी हुए। तब पुलिस ने राहत की सांस ली और शाम करीब छह बजे शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मौके पर पहुंचे एडिशनल एसपी मनोज कुमार कात्याल ने निष्पक्ष कार्रवाई का भरोसा दिलाया।

मृतक के स्वजनों की तहरीर पर पुलिस ने आरोपितों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया है। मामले की जांच की जा रही है। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जायेगी।

-मनोज कुमार, एडिशनल एसपी

Edited By: Rajesh Verma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट