रुद्रपुर, उधमसिंह नगर [जेएनएन]: एक के बाद एक वीडियो वायरल। विधायक राजकुमार ठुकराल के साथ कुछ ऐसा ही हो रहा है। अब उनका जो ताजा वीडियो सामने आया है, वह सीपीयू की महिला दारोगा से जुड़ा है। आरोप है कि वह अभद्रता कर रहे हैं। इस मामले में एसएसपी ने जांच के निर्देश दिए हैं। वहीं ठुकराल का कहना है कि चेकिंग के दौरान मारपीट का अधिकार किसी को नहीं है। सीपीयू ने महिला से न सिर्फ मारपीट की, उसे कोतवाली भी ले आई, जो सरासर गलत है।

बता दें कि शुक्रवार शाम सीपीयू की महिला उप निरीक्षक अनीता गैरोला इंदिरा चौक पर वाहनों की चेकिंग कर रही थीं। इसी बीच बिना हेल्‍मेट नशे में धुत रामपुर निवासी राजवीर को रोक लिया गया, इसे लेकर इंदिरा चौक पर जमकर धक्का मुक्की और हंगामा हुआ। आरोप था कि सीपीयू ने राजवीर की पत्नी रेनू से भी मारपीट की। इसके बाद पुलिस राजवीर और उसकी पत्नी को लेकर कोतवाली पहुंच गए।

पता लगते ही विधायक राजकुमार ठुकराल समर्थकों के साथ कोतवाली आ गए। आरोप है कि वह महिला उप निरीक्षक पर बिफर पड़े। यह देख कोतवाल कैलाश भट्ट ने विधायक ठुकराल को अलग किया। शनिवार को कोतवाली में महिला उप निरीक्षक से अभद्रता का वीडियो वायरल हो गया। मामला एसएसपी डॉ. सदानंद दाते तक पहुंचा तो उन्होंने जांच के निर्देश दे दिए। एसएसपी डॉ. सदानंद दाते ने बताया कि चेकिंग कर रहे पुलिस कर्मियों की कोई गलती नहीं थी। वायरल वीडियो में विधायक राजकुमार ठुकराल सीपीयू में तैनात महिला उप निरीक्षक से अभद्रता कर रहे हैं। इसकी जांच की जा रही है। 

इधर, पुलिस ने राजवीर पर सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने का केस दर्ज कर लिया है। विधायक का कहना है कि सीपीयू ने महिला से मारपीट की थी। यह चालान करने का कोई तरीका नहीं है। सीपीयू की बहुत शिकायतें मिल रही हैं। उन्होंने कहा कि चेकिंग के दौरान मारपीट का अधिकार किसी को नहीं है।

यह भी पढ़ें:  विधायक ठुकराल पर महिला से मारपीट और गाली गलौज का आरोप

यह भी पढ़ें: तेज रफ्तार से आ रही बस को सीपीयू ने रोका, शराब के नशे में मिला चालक