खटीमा : बाबा जी की बरसी पर धार्मिक समागम के लिए श्री गुरू ग्रंथ साहिब स्वरूप न दिए जाने के डेरा कार सेवा के बयान को कमेटी ने साजिश करार दिया है। जारी विज्ञप्ति में प्रबंधन कमेटी का कहना है कमेटी को बदनाम करने के लिए जगह-जगह झूठे आरोपों का प्रचार किया जा रहा है। जो निदंनीय है। कमेटी ने कहा कि पहले ही बीस श्री गुरु ग्रंथ साहिब स्वरूप देने को कमेटी की सहमति बनी थी। प्रबंध कमेटी अध्यक्ष सरदार सेवा सिंह की अध्यक्षता में आम सभा की गई। जिसमें कहा गया कि महापुरुष जत्थेदार बाबा हरभंस सिंह, बाबा फौजा सिंह व बाबा टहल सिंह की बरसी पर डेरा कार सेवा ने श्री गुरुग्रंथ साहिब का स्वरूप नहीं दिए जाने की बात कही है। जो सरासर गलत है। डेरा कार सेवा ने गलत प्रचार-प्रसार कर संगत को धोखे में रखा। बैठक में बलजिंदर सिंह, गुरमेज सिंह, हरेंद्र सिंह, धन्ना सिंह, जरनैल सिंह, सुखचैन सिंह, बल्देव सिंह, बलकार सिंह, लखविंदर सिंह आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran